BloggingLife Style

टीकमगढ़ जिले के 8 प्रमुख दर्शनीय स्थल | Tikamgarh District Tourist Places

Tikamgarh District Tourist Places – हेलो दोस्तो स्वागत है आप सभी का इस पोस्ट पर जिसमे आज आप जानोगे टीकमगढ़ जिले कुछ प्रमुख दर्शनीय स्थलों के बारे में अगर आप टीकमगढ़ जिले के रहने वाले हैं तो आपको यह Most Tourist Places के बारे में पता ही होगा और यदि आप Tikamgarh के नहीं है तो शायद आपको इस जिले के प्रमुख पर्यटक स्थानों के बारे में जानकारी नहीं होगी।

टीकमगढ़ जिले के 8 प्रमुख दर्शनीय स्थल | Tikamgarh District Tourist Places

लेकिन आज के इस लेख में आप को ये पता चल जाएगा कि मध्यप्रदेश के टीकमगढ़ जिला कितने पर्यटक स्थान है, अगर आपको नहीं पता तो आज का यह पोस्ट खास आप ही के लिये है इसलिए इस आर्टिकल को ध्यान से पढ़े।

मध्यप्रदेश का टीकमगढ़ जिला मुख्यतम जिला में से एक है Tikamgarh मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल से लगभग 300 किलोमीटर की दूरी पर होगा। वैसे देखा जाये तो टीकमगढ़ का इतिहास काफी पुराना है आप सभी को बता दूँ की आज से लगभग 66 साल पहले सन 1956 में टीकमगढ की स्थापना हुई थी।

Madhyapradesh का ये जिला अपने काफी पुराने वैभवशाली इतिहास के लिये भी प्रसिद्ध है जिसमे कई बड़े बड़े राजा रखा करते थे और आज उन राजाओ के किले काफी प्रसिद्ध है। वही टीकमगढ़ जिले की पावन धरती से जामनी और धसान नदी भी निकलती है जिनको देखने मे काफी आकर्षित लगता है।

टिकमगढ़ मे ऐसी बहोत से दर्शनीय स्थान है जहाँ आप घूम सकते हैं. जिनमे से टीकमगढ़ जिले प्रमुख पर्यटक स्थान ओरछा है हालांकि ओरछा के अलावा ऐसे कई सारे स्थल हैं जहां काफी अधिक संख्या मे लोग घूमने जाते हैं। तो चालिये आप अधिक समय ना लेते हुए जानते है टीकमगढ जिले मे कोन कोन से दर्शनीय स्थल है।

टीकमगढ़ जिले के दर्शनीय स्थल (Tikamgarh District Tourist Places)

वैसे तो टीकमगढ़ जिले में ऐसे बहुत से पर्यटक स्थान है जहाँ आप घूम सकते है लेकिन हम इस पोस्ट में आपको उन 8 प्रमख स्थानों के बारे में बताने वाले है जहां अक्सर लोगों की भीड़ लगी रहती है।

  1. औरछा
  2. कुंडेश्वर धाम
  3. टीकमगढ़ का किला
  4. मोहनगढ़ का किला
  5. मांची झरना
  6. विंध्यवासिनी मंदिर
  7. बल्देवगढ़ का किला
  8. सुजारा बांध

प्रिय पाठको ये 8 प्रमुख दर्शनीय स्थान है जो टीकमगढ़ जिले अंतर्गत आते है, अगर आप टीकमगढ जिला मे किन्ही पर्यटक स्थानों की खोज कर रहे हैं तो इन 8 Tourist Places मे से आप कहीं भी घूम सकते है ये सभी दिखने मे काफी आकर्षित लगते हैं।

इनको जरूर पढ़े –

मोबाइल फोन से पैसे कमाने के 10 बेस्ट Apps के बारे मे जानिए और पैसे कमाये 

अपने फ़ोन में इस्तमाल करने वाले Whatsapp से पैसे केसे कमाए 

घर बैठकर मोबाइल फोन से पेसे कमाने के 9 बेहतरीन तरीको के बारे में जाने 

औरछा

ओरछा टीकमगढ़ जिले का प्रमुख दर्शनीय स्थान माना जाता था लेकिन अब ये टीकमगढ़ जिला का हिस्सा नही है क्योंकि जब से निवाड़ी जिला बना है तब से औरछा निवाड़ी जिले का हिस्सा बन गया है। परन्तु जब ये टीकमगढ़ जिला का हिस्सा हुआ करता था तब ये टीकमगढ का एक प्रमख दर्शय स्थल माना जाता है। ओरछा टीकमगढ़ से लगभग 70 किलोमीटर की दूर है औरछा मे घूमने के लिये बहोत से पर्यटक स्थान मौजूद है।

ओरछा में राजा महाराजा के जमाने की बहोत सारी पुरानी प्राचीन इमारते भी है जिनको देखने के लिये लोग काफी दूर दूर से आते है। लेकिन आपको एक जरूरी बताना चाहेंगे की औरछा पहले टीकमगढ़ जिला के अंतर्गत आता था मतलब की टीकमगढ़ जिले का हिस्सा था।

अगर हम ओरछा में पर्यटक स्थानो की बात करे तो यहाँ पर आप औरछा का किला, वेतवा नदी, रामराजा मंदिर, शाही छतरियां, अभ्यारण्य, हरदौल पार्क वाटिका आदि कई सारे दर्शनीय स्थान है जहां घूम कर आप खूब मोज कर सकते हैं।

साथियों ओरछा में कई बड़ी बड़ी फिल्मों की शूटिंग भी हुई जिससे आप अंदाजा लगा सकते हो कि बाकई मे ओरछा काफी सुन्दर और दर्शनीय जगह है ओरछा मे घूमने के लिए लोग विदेशों से आते हैं, अगर आप घूमने मे रूचि रखते है तो एक बार आप औरछा घूमने के लिए जरूर जाये।

कुण्डेश्वर धाम

दोस्तों कुंडेश्वर टीकमगढ से करीब 7 किलोमीटर दूर है जो एक प्रमुख दर्शनीय स्थान है यहां पर भगवान शिव शंकर जी का मंदिर बना है जिससे रोजाना यहाँ पर हजारो की संख्या में लोग आते हैं और भगवान शिव जी के शिवलिंग के दर्शन करते है।

कुण्डेश्वर धाम में भगवन शिव शंकर जी के मन्दिर में उनका शिवलिंग विराजमान है जो दिखने में काफी ज्यादा आकर्षित अद्धभुत लगता है जब भी कोई त्यौहार होता है तो उस दिन शिव जी के इस शिवलिंग को अच्छे तरीके से सजाया जाता है जिससे वह देखने में और भी ज्यादा सुन्दर एवं आकर्षित लगने लगता है।

बुजुर्गो का कहना है कि शिव मंदिर में जो शिवलिंग विराजमान है वो यहाँ मौजूद कुण्ड से प्राप्त हुआ था जिस वजह से इसे कुण्डेश्वर धाम के नाम से जाना जाने लगा है। तो अगर आप जब भी कुंडेश्वर जाओ तो एक बार यहां के शिव मंदिर मे जरूर जाये और भगवान शिव के दर्शन करे।

साथियो कुंडेश्वर में शिव जी मंदिर के अलावा वहां से कुछ दूरी पर एक पिकनिक स्थान भी है जो बेरीघर नामक स्थल के नाम से जाना जाता है, बेरीघर में आप पिकनिक मनाने के अलावा यहां पे एक सुंदर जलप्रपात को भी देख सकते हैं।

यह जलप्रपात देखने में काफी सुन्दर और आकर्षित लगता है यही वजह है की ज्यादातर लोग इस जगह पिकनिक मनाने आते है। तो जब भी आप इस जगह पिकनिक मनाने जाओ तो एक बार इस जलप्रपात में स्नान जरूर करे और पिकनिक का आनंद अच्छे ले।

टीकमगढ़ का किला

Tikamgarh का किला यहाँ का सबसे सुन्दर दर्शनीय स्थान है क्योंकि यह किला (Fort) ऐतिहासिक सुन्दर एवं आकर्षित पुराना किला है लेकिन आश्चर्य की बात तो यह कि इस किले में कोई घूमने नहीं जाता है जिसका मुख्य कारण प्रशासन ने इसमें घूमने पर रोक लगायी है।

अगर आप घूमना चाहो तो इस किले में घूम सकते हैं लेकिन इसमें घूमने की परमीशन सिर्फ दशहरे के दिन ही मिलती है इसलिए आप दशहरे के दिन ही टीकमगढ़ के किले में घूम सकते हो जिससे दशहरे के दिन यहाँ पर काफी ज्यादा लोग घूमने आते हैं।

बता दे की टीकमगढ़ जिला का यह ऐतिहासिक किला शहर के बीचो बीच स्थित है जो दिखने में काफी ज्यादा आकर्षित लगता है। तो अगर आप इस किले मे घूमने की सोच रहे हैं तो आप सिर्फ दशहरे के दिन ही आये।

चूकि अगर आप दशहरे के अलावा किसी और दिन आते हैं तो आप इसके अंदर नही घूम सकते है इसलिए अगर आप वास्तव मे इस किले के अंदर घूमना चाहते हैं तो सिर्फ विजयदशमी को ही आये और इस किले के अंदर घूम कर बहोत सारी प्राचीन काल की मूर्तियां एवं राजा महाराजा की राजगद्दी आदि सभी देखने को मिल जाएगी।

इन्हे भी पढ़े –

बड़ौदा बैंक मे घर बैठे ऑनलाइन खाता कैसे खोले? जानिए पूरी प्रोसेस 

बिना बैंक जाए घर से HDFC बेंक मे ऑनलाइन अकाउंट कैसे खोले 

मेडिकल स्टोर केसे खोले? जानिये पूरी जानकारी हिन्दी में 

मोहनगढ़ का किला

टीकमगढ़ किले के अलावा मोहनगढ़ का किला भी काफी सुन्दर और दर्शनीय स्थल है यह किला भी एक पुराना किला है जो टीकमगढ़ से लगभग 30 किलोमीटर दूर है मोहनगढ़ स्थित है, मोहनगढ़ का ये किला काफी ऊंची पहाड़ी पे बना है जो पेड़ पौधो से चारो तरफ से घिरा है।

मोहनगढ़ का यह किला अब एक खंडर मे बदलता जा रहा है जिसका मुख्य कारण है इसकी सही से देखभाल ना करना लेकिन अगर आप इस किले में घूमना चाहते हैं तो आप इसमें घूम सकते है इसके लिये आपको कोई रोक टोक नही है।

आप इस किले में घूमकर प्राचीनकाल के अवशेषों को देख सकते है और इसके अलावा इसी के पास आपको एक बड़ा सा तालाब भी दिखने को मिलेगा जो काफी अद्धभुत है. तो आप जब भी मोहनगढ़ जाये तो एक बार यहाँ का किला और तालाब जरूर घूम सकते है. यह भी Tikamgarh District Tourist Places मे से एक है।

मांची झरना

टीकमगढ़ के पास एक गांव ही जिसका नाम मांची है इस गांव मे एक पहाड़ है जिसके ऊपर से एक झरना निकलता है जो दिखने में काफी सुन्दर लगता है इस झरने को मांची झरने के नाम से जाना जाता है क्योंकि यह मांची गांव में है।

ये झरना एक ऊँची पहाड़ी से नीचे गिरता है जो देखने मे काफी आकर्षित लगता है आप इस मांची झरने के नीचे नहा भी सकते है और खूब सारा आनंद ले सकते है लेकिन दोस्तो आप सभी को बता दे कि यह झरना सिर्फ वर्षात के मौषम मे ही देखने को मिलता है।

इसलिए आप अगर इस झरने का सुन्दर दर्शनीय रूप देखना चाहते हैं तो वर्षात के मौषम में ही जाये और यहाँ का आनंद ले यहाँ पर आपको चारो तरफ काफी ज्यादा हरियाली एवं सुन्दर पेड़ पौधे देखने को मिलते है तो इस जगह पे जाकर के आप अपना काफी अच्छा टाइम बिता सकते है।

विंध्यवासिनी मंदिर

टीकमगढ़ जिले मे स्थित बल्देवगढ़ के पास एक पहाड़ पर माँ विंध्यवासिनी का मंदिर है जो एक दर्शनीय स्थान है यहां पर रोजाना हजारों लोग माता रानी के दर्शन करने के लिए आते है, खासकर विंध्यवासिनी मंदिर मे त्योहारों के दिन काफी ज्यादा भीड़ रहती है।

जब भी कोई त्यौहार होता है तो ज्यादतर लोग माँ विंध्यवासिनी माता के दर्शन करने मंदिर जाते है, तो अगर आप भी टीकमगढ़ जिले मे कहीं घूमने का का प्लान बना रहे हैं तो आप विंध्यवासिनी मंदिर घूम सकते है।

बल्देवगढ़ का किला

दोस्तो बल्देवगढ़ का किला टीकमगढ़ के सभी प्राचीन किलो मे से एक है जो काफी सुन्दर है ये Fort टीकमगर के बल्देवगढ़ में है जो लगभग टीकमगढ से 25 km. दूर छत्तरपुर – टीकमगढ़ रोड पर है जो एक बड़े पहाड़ के ऊपर बना है।

बल्देवगढ़ किले पास एक बड़ा तालाब भी है जिसे ग्वाल तालाब के नाम से जानते है अगर आप इस किले में घूमने जाते हो तो इसके अंदर आपको प्राचीनकाल के अस्त्र शस्त्र देखने की मिलेंगे और इसके अलावा इसके अंदर एक सुन्दर पार्क भी है जहाँ बैठकर आप अपना समय बिता सकते है।

इसके अलावा जब आप इस किले के ऊपरी सिरे पर जाओगे और वहां दे बल्देवगढ़ शहर और ग्वाल तालाब का नजारा देखोगे तो काफी सुन्दर एवं आकर्षित दिखेगा। आप सभी की जानकारी के लिए बताना चाहेंगे की इस किले स्थापना महाराजा विक्रमजीत सिंह ने करवायी थी।

तो अगर आप Tikamgarh District Tourist Places की खोज कर रहे हैं तो बल्देवगढ़ का किला एक दर्शनीय जगह है आप यहाँ पर एक बार घूमने के लिये जरूर जाये, इस स्थान पर आप अपने फैमिली एवं दोस्तों के साथ समय बिता सकते है।

सुजारा बांध

जब से सुजारा नगर में धसान नदी पर बांध बनाया गया तभी से वह सुजारा बान के नाम से प्रसिद्ध हो गया है और टीकमगढ़ जिले का एक दर्शनीय स्थल बन चुका है जहां पर हर दिन हजारो की संख्या में लोग घूमने जाते है और बान के सुन्दर नजारे का आनंद लेते है।

सुजारा बांध टीकमगढ़ जिले का एक प्रमख सबसे बड़ा बान है जो धसान नदी पर बनाया गया है बता दे कि इस बांध के निर्माण के लिए जितने भी गांव इसके पास आते थे उन सभी गांव को सरकार ने मुआवजा देकर खाली करा दिया है।

आज के समय मे सुजारा बान एक पर्यटक स्थानों मे से एक इसलिए अगर आप Tikamgarh जिले मे पर्यटक स्थानो को ढूढ रहे हैं तो उनमे से एक सुजारा बान भी है यहाँ पर आप घूम सकते है और अपना समय बिता सकते है।

Conclusion

दोस्तो हमने इस लेख में टीकमगढ़ जिले के 8 प्रमुख दर्शनीय स्थानों के बारे में बताया है (Tikamgarh District Tourist Places) तो हम आशा करते हैं कि इस ब्लॉग मे दी गयी इन्फॉर्मेशन आपको पसंद आयी होगी और आपको यह अच्छे से पता चल गया की आखिर टीकमगढ़ जिले मे कौन कौन से पर्यटक स्थान है।

यदि आपका Tikamgarh जिला में दर्शनीय स्थल से जुड़ा कोई प्रश्न है तो आप नीचे Coment करके हमे बता सकते हैं हम आपके कमेंट को पढ़कर आपके प्रश्न का जबाब जल्द देंगे।

यदि पोस्ट अच्छा लगा हो और इसमें कुछ काम कि जानकारी मिली हो तो इसको अपने सभी जान पहचान के लोगों के साथ शेयर जरूर करे शेयर करने के लिए आप फेसबुक व्हाट्सप्प आदि का यूज कर सकते हो। धन्यवाद आपका दिन शुभ हो

Arvind Choudhary

नमस्कार दोस्तो, मैं Arvind Choudhary Hindilive.Net का Founder हूँ,अगर में अपनी पढाई की बात करू तो मैंने Graduate किया है। मुझे टेक्नोलॉजी से जुड़ा रहना बहुत पसंद है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button